आवश्यक नोट:-प्रैसवार्ता का प्रैस मैटर छापते समय लेखक तथा एजेंसी के नाम के अक्तिरिक्त संबंधित समाचार पत्र की एक प्रति निशुल्क बजरिया डाक भिजवानी अनिवार्य है

Friday, February 26, 2010

पर्यटकों की पसंद बन रहा है-उत्तराखंड

ऋषिकेश(प्रैसवार्ता) प्रथम मार्च 2010 से ऋषिकेश में आयोजित होने वाला इंटरनैशनल योगा सप्ताह हरिद्वार कुंभ मेले के साथ एक बोनस होगा। योगा के प्रचार के उद्देश्य से आयोजित इस मेले में पर्यटन विभाग उत्तराखंड की विशेष भूमिका रहेगी। उत्तराखंड पर्यटन के प्रशासन प्रबंधक एस.एस.राणा ने ''प्रैसवार्ता" को बताया कि धार्मिक स्थल ऋषिकेश विश्व भर के सैलानी वर्ग के आकर्षण का केन्द्र बनता जा रहा है। हरिद्वार, बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री तथा हेमकुंट साहिब जेसे धार्मिक संस्थाओं के करीब ऋषिकेश को उत्तराखंड पर्यटन द्वारा एक नई दिशा प्रदान की गई है। पूरे विश्व के योग और मैडीटेशन विशेषज्ञ रिशीकेश में पहुंचकर उत्तराखंड की अन्तरर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति अर्जित होगी। श्री राणा के अनुसार इस वर्ष आयोजित होने वाले इंडिया ट्रैवल मार्किट में उत्तराखंड पर्यटन ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई है, जहां उनके पैवेलियन में कुंभ मेले की झलक साफ नजर आती है-जबकि सरकारी पर्यटन विभाग, गढ़वाल विकास मंडल और कुंमाऊ मंडल विकास निगम सैलानियों को विशेषकर तीर्थ यात्रियों को विभिन्न-विभिन्न पैकेज ऑफर कर रहा है। उत्तराखंड पर्यटन द्वारा योगा पैकेज का मूल्य मात्र डेढ़ हजार रुपया है, जिसमें दो रात्री और तीन दिन तथा साढ़े सात हजार रुपये के पैकेज में सात रात्री और आठ दिन शामिल किये गये हैं। गढ़वाल विकास निगम के जनसंपर्क अधिकारी धीरेन्द्र राणा ने ''प्रैसवार्ता" को बताया कि उत्तराखंड में पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ से काफी सैलानी आते हैं और दिन-प्रतिदिन सैलानियों की संख्या में वृद्धि हो रही है। वाईटवाटर रिवर राफ्टिंग औली में आयोजित होने वाली सैफ इंटर गेम और कुंभ के चलते, हेमकुंट साहिब की तरफ हैलीकॉप्टर सेवाएं शुरू होने से समूचे विश्व के सिख तीर्थ-यात्रियों की संख्या को भी बढ़ावा मिला है। 28 अप्रैल को समाप्त होने वाले कुंभ मेले में हिन्दु-रीतियों और धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजनों में उत्तराखंड के पुख्ता इंतजाम भी एक विशेष पहचान बनते जा रहे हैं। 9 नवम्बर 2000 को भारत के मानचित्र पर बतौर उत्तराखंड अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने वाले इस राज्य ने पर्यटन क्षेत्र में प्रशंसनीय उपलब्धि दर्ज की है। राज्य में पर्यटन विभाग के विभिन्न-विभिन्न आयाम है, जिनमें ऐडवैंचर टूरिजम,धार्मिक स्थल, पाईल्ड लाईफ टूरिजम इत्यादि विशेष हैं। राजय में आने वाले पर्यटकों की गढ़वाल विकास मंडल तथा कुमाऊं मंडल विकास निगम के 130 होटलों द्वारा मेजबानी की जा रही है।

No comments:

Post a Comment

YOU ARE VISITOR NO.

blog counters

  © Blogger template On The Road by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP